My Kisan Blog

कृषि,रोजगार स्वास्थ्य,शिक्षा, MyKisan,News Blog 

​कृषि 

रोजगार 

स्वास्थ्य 

शिक्षा 

​सरकारी योजना 

खोज करे

Bajar Bhav Today | आज का मंडी भाव

उत्तर प्रदेश के किसान मंडी भाव ऑनलाइन जाने,लखनऊ कानपुर ,बरेली ,मेरठ ,लखीमपुर ,आगरा मैनपुरी शाहजहाँपुर सीतापुर पीलीभीत ,सहारनपुर गाजियाबाद

गन्ने की खेती कैसे करे,वैज्ञानिक विधि से , पूरी जानकारी हिन्दी मे

गन्ने की खेती हमारे देश में गन्ना प्रमुख रूप से नकदी फसल के रूप में उगाया जाता है, जिसकी खेती प्रति वर्ष लगभग 30 लाख हेक्टर भूमि में की जाती है, इस देश में औसत उपज 65.4 टन प्रति हेक्टर है, जो की काफी कम है, यहाँ पर मुख्य रूप से गन्ना द्वारा ही चीनी व गुड बनाया जाता है I गन्ने की उन्नतशील प्रजातियाँ कौन-कौन सी उगाई जाती हैं ? उत्तर प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रो के लिए गन्ने की विभिन्न प्रजातियाँ स्वीकृत हैं, शीघ्र पकने वाली : कोयम्बटूर शाहजहांपुर 8436, 88230, 95255, 96268, 98231, 95436 एवं कोयम्बटूर सेलेक्शन-00235 तथा 01235 आदि हैं इसी तरह से मध्य एवं देर से पकने वाली प्रजातियाँ: कोयम्बटूर शाहजहांपुर 8432, 94257, 84212, 97264, 95422, 96275, 97261, 96269, 99259 एवं यू. पी. 0097 जिसे ह्रदय भी कह

Dollar rate in Indian rupees,USD to INR today

Dollar rate in Indian rupees भारतीय रुपया भारत की राष्ट्रीय मुद्रा है। इसका बाज़ार नियामक और जारीकर्ता भारतीय रिज़र्व बैंक है। नये प्रतीक चिह्न के आने से पहले रुपये को हिन्दी में दर्शाने के लिए 'रु' और अंग्रेजी में Re., Rs. और Rp. का प्रयोग किया जाता था। आधुनिक भारतीय रुपये को १०० पै अमेरिकी डॉलर संयुक्त राज्य अमेरिका की राष्ट्रीय मुद्रा है। एक डॉलर में सौ सेंट होते हैं। पचास सेंट के सिक्के को आधा डॉलर कहा जाता है। पच्चीस सेंट के सिक्के को क्वार्टर कहते हैं। दस सेंट का सिक्का डाइम कहलाता है और पाँच सेंट के सिक्के को निकॅल कहते हैं। एक सेंट को पैनी के नाम से पुकारा जाता है। डॉलर के नोट 1,5,10,20,50 और 100 डॉलर में मिलते है। Dubai to india currency ,kuwait currency in indian rupees ,China curr

NRC क्या है? नागरिकता साबित करने के लिए दिखाने होंगे आपको ये दस्तावेज

What is NRC (एनआरसी), NRC Documents List: नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों को देखते हुए कहा जा सकता है कि भविष्य में एनआरसी प्रक्रिया लागू करने में भी दिक्कतें हो सकती हैं। मुख्य बातें नागरिकता कानून के खिलाफ मचे बवाल, जानिए क्या है NRC यानि राष्ट्रीय मतदाता रजिस्टर इसी रजिस्टर के हिसाब से असम में 25 मार्च 1971 से पहले रह रहे लोगों को माना गया भारतीय नागरिक एनआरसी के लिए दो तरह के दस्तावेजों की होगी जरूरत असम में पिछले साल 30 जुलाई को राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का अंतिम ड्रॉफ्ट जारी किया गया। उसके बाद यह कहा जाने लगा कि यह पूरे देश में लागू होगा। कुछ दिन पहले ही गृह मंत्री अमित शाह ने संसद जब संसद में कहा कि, 'मानकर चलिए की एनआरसी आने वाला है', तो स्पष्ट हो गया कि देश में

मोदी सरकार की इस योजना से 3.75 लाख रुपये का कैसे ले पाएगे लाभ

मोदी सरकार की इस योजना से 3.75 लाख रुपये का कैसे ले पाएगे लाभ कृषि मंत्रालय (Agriculture Ministry) के अधीन मृदा स्वास्थ्य प्रबन्धन योजना (Soil Health Card Scheme) बनाई गई है. योजना के अंतर्गत ग्रामीण युवा एवं किसान जिनकी उम्र 18 से 40 वर्ष है , ग्राम स्तर पर मिनी मृदा परिक्षण प्रयोगशाला (Soil Test Laboratory) की स्थापना कर सकते हैं. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Government of India) ने ग्रामीण युवाओं (Rural Jobs in India) को रोजगार देने के लिए बड़ा कदम उठाया है. इसके लिए कृषि मंत्रालय (Agriculture Ministry) के अधीन मृदा स्वास्थ्य प्रबन्धन योजना (Soil Health Card Scheme) बनाई गई है. कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया है कि योजना के अंतर्गत ग्रामीण युवा एवं किसान जिनकी उम्

Citizenship Amendment Bill 2019: क्या है नागरिकता संशोधन बिल,आसान भाषा मे समझे इसका महत्व

नागरिकता (संशोधन) विधेयक (Citizenship Amendment Bill) का उद्देश्य छह समुदायों - हिन्दू, ईसाई, सिख, जैन, बौद्ध तथा पारसी - के लोगों को भारतीय नागरिकता प्रदान करना है. क्या है Citizenship Amendment Bill 2019 और सरकार और विरोधियों के अपने-अपने तर्क नागरिकता (संशोधन) विधेयक (Citizenship Amendment Bill) का उद्देश्य छह समुदायों - हिन्दू, ईसाई, सिख, जैन, बौद्ध तथा पारसी - के लोगों को भारतीय नागरिकता प्रदान करना है. बिल के ज़रिये मौजूदा कानूनों में संशोधन किया जाएगा, ताकि चुनिंदा वर्गों के गैरकानूनी प्रवासियों को छूट प्रदान की जा सके. चूंकि इस विधेयक में मुस्लिमों को शामिल नहीं किया गया है, इसलिए विपक्ष ने बिल को भारतीय संविधान में निहित धर्मनिरपेक्ष सिद्धांतों के खिलाफ बताते हुए उसकी आलोचना की है.

E-Ganna App और caneup.in web Portal से गन्ना पर्ची कलेंडर कैसे देखे

E-Ganna App और caneup.in web Portal से गन्ना पर्ची कलेंडर कैसे देखे गन्ना किसान गन्ना पर्ची कलेंडर से जुड़ी सारी जानकारी मोबाइल एप्प (e-Ganna App)या www.caneup.in से देख सकते है। इसके लिए विभाग ने ई गन्ना एप शुरू किया है। मोबाइल पर किसान पर्चियों के अलावा पिछले सालों के गन्ना सप्लाई की जानकारी भी ले सकता है। किसानों को कोई काम होने पर गन्ना विभाग या समितियों के चक्कर नहीं काटने होंगे। mykisan, kisan_net, ganna_kisan, parchi calendar, sugarcane, kisan, kisan_suvidha, upkisan caneup upcane up_agriculture about_agriculture jaivik_kheti organic_farming Parchi_Calendar Caneup Kisan_net My_Kisan_net UP_agriculture UP_kisan Sugarcane Farmer ​ Eganna_App My Kisan Net My_Kisan_App Gaana App E-Gan

यूपी गन्ना किसान पर्ची कलेंडर कैसे देखे

कृषि,रोजगार स्वास्थ्य,शिक्षा, MyKisan,News Blog