top of page

Artificial Intelligence: क्या है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और यह कैसे काम करता है?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक का भविष्य है। यह पहले से ही हमारे जीने और काम करने के तरीके को बदल रहा है, लेकिन यह सिर्फ बड़ी कंपनियों के लिए नहीं है। जानें कि कैसे AI आज आपकी और आपके व्यवसाय की मदद कर सकता है।

Artificial Intelligence (AI) क्या है, इसके प्रकार, फायदे और नुकसान

Artificial intelligence is intelligence—perceiving, synthesizing, and inferring information—demonstrated by machines, as opposed to intelligence displayed by non-human animals and humans.

यदि आप भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में रुचि रखते हैं। तो इस पेज पर आपको जानकारी मिलने वाली है कि:-


आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है?


आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस काम कैसे करता है?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदे और नुकसान क्या- क्या हैं?

यह कितने प्रकार के होते हैं?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भविष्य क्या है?

Artificial Intelligence क्या है?


Artificial Intelligence को AI भी कहते हैं। Artificial Intelligence (AI) का अर्थ है- कृत्रिम (बनावटी) तरीके से विकसित की गई बौद्धिक क्षमता (intellectual ability) यह कंप्यूटर विज्ञान की एक शाखा है जो मशीनों और सॉफ्टवेयर को बुद्धि के साथ विकसित करता है।


जिसके द्वारा उपकरणों को सीखने और समझने की क्षमता प्रदान की जाती है। या हम सरल भाषा में समझे तो AI की सहायता से कंप्यूटर के दिमाग को इतना मजबूत बनाया जाता है कि कंप्यूटर भी इंसानों के जैसे सोचने और कार्य करने लगते है।

मुख्यतः यह कंप्यूटर सिस्टम के साथ ही किया जाता है। आप को बता दें। Artificial Intelligence की खोज करने वाले जॉन मैकार्थी थे। जिन्होंने 1955 में इसे कृत्रिम बुद्धि का नाम दिया।


Artificial Intelligence का अंतिम लक्ष्य ऐसे उपकरणों का निर्माण करना है जो बुद्धिमानी और स्वतंत्र रूप से कार्य कर सकें और मानव श्रम और मैनुअल काम को कम कर सकें।


What is the aim of AI?

An intelligent machine is developed by reading human behavior at its core. To put it simply, AI aims at designing technologies that allow computers to operate intelligently and autonomously

 

Artificial Intelligence के कुछ उदाहरण क्या हैं?


एआई का इस्तेमाल रोजमर्रा की जिंदगी में कई तरह से किया जा रहा है कई ऐसी मशीनें या उत्पाद हैं जो Artificial Intelligence के जरिए इंसानों को कई सुविधाएं मुहैया कराते हैं। और हो सकता है कि आप इनमें से कई चीजों का रोजाना इस्तेमाल कर रहे हों। कुछ उदाहरण

  • Google Assistant

  • Google map

  • Tesla autopilot car

  • Google Nest


1. Google Assistant

यह एक वॉयस असिस्टेंट है जिसके बारे में आपने शायद पहले सुना होगा। जब हम Hey Google को कुछ करने या उस पर काम करने के लिए कहते हैं, तो वह वही काम करता है। जैसे कॉल करना, मैसेज भेजना, गाना बजाना और अलार्म लगाना आदि। Google Assistant, Siri और Alexa की तरह यह भी सामान्य तरीके से काम करता है।


2.Google Maps:



Artificial Intelligence को समझने के लिए सबसे अच्छा उदाहरण गूगल मैप का है। जब हम गूगल मैप में किसी भी रास्ते को ढूंढते हैं तो गूगल AI मैपिंग के साथ सड़कों को स्कैन करके अपनी Algorithm के इस्तेमाल से हमें सही रास्ता बताता है।


3.Tesla Autopilot Car


कंप्यूटर और स्मार्टफोन से बढ़कर अब AI ने Automobiles में भी अपना कदम रख दिया है। अगर आप कारों में रुचि रखते हैं तो आपने Tesla का नाम तो जरूर सुना होगा। Tesla ने एक ऐसी autopilot car बनाई है। जो किसी ड्राइवर के नहीं बल्कि Artificial Intelligence की सहायता से खुद ही चल सकती है। इससे आप यह अंदाज़ा लगा सकते हैं कि हमारा आने वाला भविष्य कितना रोचक और आसान होगा।


4.Google Nest

गूगल नेस्ट क्या है?

Artificial intelligence के क्षेत्र में सबसे प्रसिद्ध स्टार्टअप Google Nest रहा है। जिसको गूगल ने खरीद लिया है। Nest AI द्वारा आपके व्यवहार और दिनचर्या का अध्ययन करके आपके घर की ऊर्जा को बचाता है। इसमें इतनी इंटेलिजेंस जोड़ी गई है कि यह केवल एक हफ्ते में ही आपके लिए उपयोगी तापमान का पता कर लेती है। इतना ही नहीं, यदि आपके घर में कोई भी नहीं है तो यह अपने आप बंद भी हो जाती है।


Artificial Intelligence कितने प्रकार के होते हैं?


Artificial Intelligence मुख्यतः दो प्रकार की होती है।

  1. weak Artificial Intelligence

  2. strong Artificial Intelligence

Weak Artificial Intelligence

Weak Artificial Intelligence को Narrow Artificial Intelligence के नाम से भी जाना जाता है। जिसे कुछ इस प्रकार से program किया जाता है की जो सिर्फ किसी एक ही task पर काम कर सकता है। यह बहुत smartly work नहीं कर सकता है लेकिन इसे इस तरह बनाया गया है। कि जिससे हमें लगे की ये बहुत स्मार्ट है। जैसे- Apple में SIRI और Google में voice assistance ये दोनों केवल एक ही task पर काम करते है मतलब की जब हम इनसे जितना बात करते हैं या पूछते हैं। तो ये सिर्फ उतना ही काम करते हैं।

Strong Artificial Intelligence

इसको General Artificial Intelligence भी कहा जाता है। यह Weak Artificial Intelligence की अपेक्षा ज्यादा smart होते हैं। यह मनुष्य के मस्तिष्क की तरह काम कर सकते हैं। इसलिए यह कठिन काम को भी को आसानी से पूरा कर सकते हैं। लेकिन इसका अभी कोई ठोस उदाहरण नहीं हैं। लेकिन अब Artificial Intelligence Scientist भी Strong Artificial Intelligence को अधिक मजबूत बनाने के लिए काफी हद तक काम कर चुके हैं।


आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदे और नुकसान क्या हैं?


Artificial Intelligence के फायदे

मनुष्य की गलतियों में कमी

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इंसानो की तुलना में बहुत कम गलती करता है। क्योकि उसमे पहले से ही प्रोग्राम सेट होता है की किस कार्य को कौन से तरीके से करना है।


जोखिम में कमी

यह इंसानो की तुलना में अधिक जोखिम भरे काम को भी असासनी से कर सकती है जिन्हे इंसान शायद ही कर पाए। जैसे बम को डिफ्यूज करना, तेल और कोयले की खुदाई करना तथा समुद्र के सबसे गहरे हिस्से का पता लगाना आदि। Artificial Intelligence से बनी मशीन या रोबोट का इस्तेमाल प्राकृतिक आपदा के वक़्त भी कर सकते हैं।

हर समय सपोर्ट

कोई भी इन्सान किसी कार्य को 24 घंटे नहीं कर सकता। उसे कुछ समय के बाद आराम की ज़रूरत पड़ती है। लेकिन Artificial Intelligence में ऐसा बिलकुल नहीं है। AI से बनी मशीनें 24 घंटे किसी भी काम को लगातार करने में सक्षम होती हैं।

तेज निर्णय

इंसानो की तुलना में मशीन तेज गति से फैसले लेने में सक्षम होती है। क्योंकि मशीन में पहले से ही प्रोग्राम सेट होते है। अगर हम इंसानों की बात करें तो वह निर्णय लेते वक़्त कई चीज़ो के बारे में सोचता है। जिसमे काफी समय बर्बाद होता है।

डेटा की गहराई से जांच करना

Artificial intelligence डाटा की गहराई से जांच करने में मदद करता है। जिसके कारण हमें सबसे सटीक सूचना प्राप्त होती है।

इसे ज्यादातर लोग बिज़नेस की field में data को analysis करने में उपयोग में लाते हैं। जिससे बिज़नेस को अच्छे से बढ़ाया जा सके।


Artificial Intelligence के नुकसान

हम सभी यह अच्छे से जानते हैं की मशीन इंसानो की तरह काम कर सकती है और इंसानों से बेहतर प्रोडक्शन भी कर सकती है। लेकिन इसके नुकसान भी हैं।


बेरोजगारी में वृद्धि

Artificial intelligence के आने के बाद बेरोजगारी काफी तेजी से बड़ गयी है क्योकि इंसानो की जगह अब मशीनों ने ले ली है जिसके कारण लोगो से उनकी नौकरियाँ भी छिन चुकी है।


उदाहरण के लिए पहले हेल्प सेंटर में इंसान लोगों की समस्याओं का समाधान करते थे लेकिन अब चैट बॉक्स का इस्तेमाल होता है।


इंसानों को आलसी बना दिया

आज के समय में इंसान पूरी तरह से मशीनों पर निर्भर हो चूका है जिसके कारण वह प्रति दिन आलसी बनता जा रहा है। इसका सबसे बड़ा नुकसान आने वाले समय में इंसानो में स्वास्थ से संबंधित समस्याएं बनती रहेंगी।


ऊंची कीमत

Artificial intelligence के devices को बनाने में काफी अधिक पैसे खर्च किये जाते है। क्योंकि इन devices को बनाने के लिए बहुत ही आधुनिक सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की जरूरत होती है। जिस कारण से यह काफी ज्यादा महंगे होते है।


कोई नैतिकता नहीं

यदि हम इंसान की दो सबसे बड़ी विशेषताओं के बारे में बात करे तो वह नीति और नैतिकता है। यह दोनों ही Artificial intelligence मशीन के पास नहीं होते हैं। जिसके कारण वह सही और गलत का फर्क नहीं कर सकती।


कोई सुधार नहीं

Artificial intelligence खुद में कोई सुधार नहीं कर सकती। यह सिर्फ उतना

ही काम करेंगी जितना इसको program किया जाता है।



आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ह्यूमन इंटेलिजेंस में क्या अंतर है?

Human Intelligence और Artificial Intelligence के बीच अंतर


A branch of computer science called artificial intelligence studies the problem of building intelligent machines.
A human being's natural intelligence, however, cannot be programmed or created artificially.

सबसे पहले तो आप यह समझ लेना चाहिए कि Artificial Intelligence एक ऐसी मशीन है जो इंसानों के जैसी सोचने की क्षमता रखती है। एक इंसान अपनी ज़िंदगी में बहुत कुछ सीखता है। और अनुभव करता है जिसकी सहायता से उसे आगे के फैसले लेने में बहुत आसानी होती है लेकिन Artificial Intelligence में मशीन वहीं फैसले लेती हैं जो इंसानों ने उसमें प्रोग्राम किये होते हैं।

लेकिन फिर Artificial Intelligence में पुराने अनुभवों के साथ फैसला लेने की क्षमताएं भी धीरे धीरे जुड़ रही हैं। परंतु मुश्किल समय में सटीक फैसला तो इंसान के द्वारा ही लिया जा सकता है। इसके अलावा इंसान का दिमाग बहुत चीज़ों को एक साथ मैनेज कर सकता है और मशीनें इंसानों द्वारा प्रोग्राम किये गए कुछ ही कामों को मैनेज कर सकती हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भविष्य क्या है?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भविष्य सिर्फ एक उपकरण से बढ़कर होगा और यह हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन जाएगा। यह हमारे जीने, काम करने और खेलने के तरीके को बदल देगा।

एआई पहले से ही हमारे तकनीक का उपयोग करने और मशीनों के साथ बातचीत करने के तरीके को बदल रहा है। भविष्य में, AI का उपयोग कला बनाने, इमारतों को डिजाइन करने, वैज्ञानिक खोज करने या संगीत लिखने के लिए भी किया जा सकता है।

 

दोस्तों इस article में हमने Artificial Intelligence kya hai in hindi मे जाना। मैं आशा करता हूँ की अब आपको समझ आ गया होगा की Artificial Intelligence (AI) क्या है?

यदि हम सब अच्छे से सोचें तो समझ पाएंगे, Artificial Intelligence future में कुछ भी करने में सक्षम होगा। मैं आप से उम्मीद करता हूँ आपको यह पोस्ट जरूर अच्छी लगी होगी। तो कृपया अपने दोस्तों के साथ ज़रूर share करना न भूलें।

दोस्तों हमारे द्वारा दी गयी जानकारी में हमसे अगर किसी भी प्रकार की कमी हुई हो तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में इस article के बारे में जरूर बताएं की आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी।

धन्यवाद।

bottom of page