top of page

Ganna Beej Booking Online: गन्ना बीज बुकिंग ऑनलाइन करें, घर बैठे

 गन्ना किसानों के लिए ऑनलाइन बीज बुकिंग की सुविधा

गन्ना किसानों के लिए खुशखबरी है। अब उन्हें गन्ने के बीज के लिए गन्ना शोध परिषद या विभाग के Office तक नहीं जाना पड़ेगा। किसान अब घर बैठे ही एक क्लिक में गन्ने की नई वैराइटी का बीज बुक करा सकते हैं। इतना ही नहीं, भुगतान की प्रक्रिया भी ऑनलाइन कर दी गई है।


Ganna Beej Booking Online: Book sugarcane seeds from the comfort of your home. Save time and money with online payment. A game-changer for farmers!
Ganna Beej Booking Online: Book sugarcane seeds from the comfort of your home.


Ganna Beej Booking Online : यह सुविधा किसानों के लिए काफी फायदेमंद साबित होगी। पहले किसानों को बीज के लिए लंबी लाइन लगानी पड़ती थी, कई बार तो उन्हें खाली हाथ ही वापस लौटना पड़ता था। लेकिन अब Online व्यवस्था से किसानों का समय और पैसा दोनों बचेंगे।

ऑनलाइन गन्ने की नई वैराइटी बुकिंग

किसान गन्ना विभाग की वेबसाइट https://enquiry.caneup.in/ पर जाकर अपना नाम या किसान कोड डालकर लॉग इन कर सकते हैं। इसके बाद वह अपनी मनपसंद की गन्ने की वैराइटी का चयन कर सकते हैं। बीज की मात्रा और कीमत के हिसाब से ऑनलाइन भुगतान करने के बाद वह बीज बुक कर सकते हैं। बुकिंग होने के बाद किसान को एक मैसेज मिल जाएगा, जिसमें उन्हें बीज के मिलने की केंद्र और तारीख की जानकारी होगी।




गन्ना शोध परिषद ने हाल ही में कई नई गन्ने की किस्में विकसित की हैं।

फिलहाल, इन नई किस्मों में कोशा-13235, कोलक-14201 और कोशा-15023 शामिल हैं। ये किस्में अधिक पैदावार देने वाली और रोगों के प्रतिरोधी हैं।

गन्ना विभाग के अधिकारियों का कहना है कि ऑनलाइन व्यवस्था से पारदर्शिता भी बढ़ेगी। पहले बीज वितरण में गड़बड़ी की शिकायतें आती थीं, लेकिन अब ऑनलाइन प्रक्रिया से इसमें कमी आएगी।


गन्ना शोध परिषद और विभाग ने एक नई पहल शुरू की है।

किसान अपने घर से ही उत्तम किस्म के बीज बुक कर सकेंगे और ऑनलाइन भुगतान कर सकेंगे।



किसानों को सलाह दी जाती है कि वह जल्द से जल्द गन्ने के बीज की ऑनलाइन बुकिंग करा लें। गन्ने की बुवाई का समय, शरद कालीन गन्ने के लिए 20 दिसंबर तक चलेगा। वहीं बसंत कालीन गन्ने की बुवाई का समय 1 फरवरी से 15 मई तक है


इस व्यवस्था से गन्ना किसानों को काफी सहूलियत होगी और उन्हें बीज के लिए दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

मुझे उम्मीद है कि यह ब्लॉग आपको मददगार साबित होगा।

bottom of page