My Kisan Hindi Blog

  • Admin

Meri Fasal Mera Byora Login online registration

गेहूं, सरसों, दलहन, सूरजमुखी, चना और जौ बेचने के इच्छुक किसानों के लिए अच्छी खबर है. किसानों की सहूलियत के लिए हरियाणा सरकार ने मेरी फसल मेरा ब्योरा (Meri fasal mera byora) पोर्टल को फिर से खोल दिया है.

जो किसान किसी कारणवश अपना रजिस्ट्रेशन नहीं करवा पाए थे वे शीघ्र पोर्टल https://fasal.haryana.gov.in/ पर रजिस्टर कर लें. वरना वो सरकारी मंडियों में अपनी फसल नहीं बेच पाएंगे. केंद्र सरकार के आदेश पर हरियाणा में फसल ब्यौरा का विवरण दिए बिना कोई किसान अपनी उपज नहीं बेच सकता.

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर 7.80 लाख किसानों का रजिस्ट्रेशन (Farmer registration) हो चुका है. राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि 1 अप्रैल से रबी मार्केटिंग सीजन 2021-22 की खरीद शुरू हो चुकी है. पहले 2 दिनों में कुल 3574 किसान 2.5 लाख क्विंटल गेहूं लेकर मंडियों में पहुंचे. जिसकी सरकारी एजेंसियों ने खरीद की

fasal haryana क्या है?

यह एक हरियाणा का वेब पोर्टल है जहाँ किसान भाई फसल का बयौरा रजिस्टर कर सरकारी सुविधाओं का फायदा ले सकते है।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल हरियाणा 2021 के फायदे

Meri Fasal Mera Byora Portal – किसान राज्य सरकार द्वारा दिए जा रहे विभिन्न लाभों का लाभ उठा सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

फसल बीमा रक्षण (Crop Insurance Cover)।

प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल क्षति के कारण मुआवजा।

विभिन्न योजनाओं के तहत वित्तीय सहायता।

सभी किसानों को बोई गई फसल का नाम, खेती के तहत क्षेत्र, फसल का महीना, बैंक खाता संख्या और मोबाइल नंबर जैसी जानकारी अपलोड करनी होगी।

किसानों के लिए एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता और समस्या निवारण के लिए एक अनूठा प्रयास है।

इस योजना के तहत किसान भाइयों को विभिन्न योजनाओं के तहत वित्तीय सहायता राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश गोपालक योजना 2021कैसे मिलेगा लोन


Haryana Meri Fasal Mera Byora Portal के उद्देश्य

हरियाणा राज्य सरकार ने किसानों के लिए और निम्नलिखित उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए मेरी फैसल मेरा ब्योरा पोर्टल लॉन्च किया है:

किसान पंजीकरण, फसल पंजीकरण और खेत का ब्यौरा।

कृषि संबंधित जानकारियाँ समय पर उपलब्ध करना।

खाद्य ,बीज ,ऋण एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी समय पर उपलब्ध करवाना।

फसल की बिजाई-कटाई का समय और मंडी संबंधित जानकारी उपलब्ध करना।

प्राकृतिक आपदा-विपदा के दौरान सही समय पर सहायता दिलाना।

किसानों के लिए एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता और समस्या निवारण के लिए एक अनूठा प्रयास।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल किसानों को आसान तरीके से कृषि उपकरणों पर सब्सिडी का लाभ उठाने में मदद करेगा। इसके अलावा, प्राकृतिक आपदाओं के दौरान फसल क्षति का आकलन करने और राहत को आसान बनाने के लिए पोर्टल का उपयोग किया जा सकता है।

Meri Fasal Mera Byora Portal Haryana (New Update)

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल में फसल क्षति की जानकारी अपडेट (Update Crop Damage Information) करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और फिर उपयुक्त बॉक्स में अपना आधार नंबर या मोबाइल नंबर (Aadhaar No or Mobile Number) दर्ज करें। इसके बाद, अपनी फसल क्षति के विवरण को अपडेट करने के लिए “Search” बटन दबाएं।

फसल क्षति की जानकारी अपडेट करने हेतु यहां क्लिक करें

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री रोजगार योजना दस लाख शिक्षित बेरोज़गार युवाओं और महिलाओं को स्थायी स्वरोज़गार के अवसर


Registration के लिए जरूरी दस्तावेज

हरयाणा में किसानों को अपनी फसल का पंजीकरण करने के लिए कुछ दस्तावेज देने या दिखाने जरूरी है, जिनकी सूची आप नीचे देख सकते हैं:

आवेदक किसान का आधार कार्ड

रिहायसी प्रमाण-पत्र

मोबाइल नंबर जो पोर्टल पर पंजीकरण के समय दर्ज कराना है

जमीन की जानकारी के लिए नक़ल की कॉपी/ फारद की कॉपी से अपना मुरब्बा नंबर खसरा नंबर।

हाल ही का पासपोर्ट साइज़ फोटो

बैंक की पासबुक की कॉपी

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के तहत किसान पंजीकरण के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें।https://fasalhry.in/

इसे भी पढ़ें: PM Kisan Status 8th installment | पीएम किसान स्टेटस कैसे देखें?

हरीयाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण कब शुरू होंगे?

राज्य सरकार द्वारा दिनांक 7 अप्रैल 2021 को सायं 5 बजे से पंजीकरण हो रहे हैं ‘Haryana Meri Fasal Mera Byora Portal’ को पुनः पंजीकरण हेतु खोल दिया गया है। सूत्रों के अनुसार मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर अभी तक राज्य के केवल 60% किसानों द्वारा पंजीकरण कराया गया है। जबकि 40% किसान ऐसे हैं, जिनके द्वारा फसल ई-खरीद कूपन पाने के लिए पंजीकरण नहीं कराया गया। हरयाणा के उप-मुख्यमंत्री द्वारा यह भी बताया गया कि इस बार कोरोना वायरस (COVID-19) की आपदा के चलते फसल खरीद की प्रक्रिया माह जून 2021 तक चलेगी तथा केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के अनुसार ही राज्य सरकार किसानों को प्रोत्साहन राशि देगी।