My Kisan Hindi Blog

  • Admin

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana Rajasthan

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना (Chiranjeevi Yojna) को लेकर राज्य सरकार ने आम लोगों को बड़ी राहत दी है. लोगों को योजना के लिए पंजीकरण करवाने पर अब ई मित्र पर शुल्क नहीं देना पड़ेगा.

यह शुल्क राज्य सरकार वहन करेगी. बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री निवास पर हुई योजना की बैठक में यह बड़ा निर्णय लिया गया. लाभार्थी को अब केवल प्रीमियम राशि के रूप में 850 रूपए ही देने होंगे. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एक भी व्यक्ति योजना के लाभ से वंचित न रहे. CM गहलोत ने कहा कि 5 लाख के बीमा कवर के लिए आमतौर पर लोगों को 30 हजार रुपए तक का प्रीमियम देना होता है. लेकिन इस योजना में प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य के लिए साढ़े तीन हजार करोड़ रुपए राज्य सरकार वहन करेगी. योजना में अन्य बीमारियों के साथ कोरोना का भी पांच लाख रुपये तक का बीमा शामिल किया गया है.

30 अप्रैल तक योजना के पंजीकरण होंगे और जो व्यक्ति इससे वंचित रह जाएगा उसे पंजीयनके लिए 3 महीने का इंतजार करना पड़ेगा

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश गोपालक योजना 2021कैसे मिलेगा लोन

इन्हें नहीं देना होगा प्रीमियम

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा और सामाजिक आर्थिक जनगणना - 2011 के दायरे में आने वाले करीब 1 करोड़ 10 लाख परिवारों को बिना प्रीमियम के लाभ मिलेगा . इसके साथ ही 13 लाख लघु एवं सीमांत किसान और 4 लाख से ज्यादा संविदा कर्मियों के परिवारों को भी सरकार बिना किसी प्रीमियम के यह स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवाएगी. जब कि अन्य परिवारों को प्रीमियम के तौर पर केवल 850 रुपए का भुगतान करना होगा. मुख्यमंत्री ने सभी जन प्रतिनिधियों और कार्मिकों से आह्वान किया है कि वे लोगों को इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रेरित करें . साथ ही सीएम ने सभी अधिकारियों, स्वास्थ्य मित्रों, स्वयं सेवी संस्थाओं, सोशल एक्टिविस्ट, प्रबुद्ध जन और युवाओं से इस योजना के लाभ से ज्यादा से ज्यादा लोगों को अवगत करवाने का आह्वान किया है.


इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री रोजगार योजना दस लाख शिक्षित बेरोज़गार युवाओं और महिलाओं को स्थायी स्वरोज़गार के अवसर