My Kisan Hindi Blog

  • Admin

Pradhan Mantri Rojgar Yojana

प्रधानमंत्री रोजगार योजना क्या है

भारत में केंद्र सरकार द्वारा दस लाख शिक्षित बेरोज़गार युवाओं और महिलाओं को स्थायी स्वरोज़गार के अवसर प्रदान करने के लिए वर्ष 1993 में PMRY (प्रधान मंत्री रोजगार योजना) की शुरुआत की गई है। ... यह योजना व्यापार, और सर्विस सेक्टर में अपना व्यापार शुरू करने में आर्थिक सहायता प्रदान करती है।




PMRY का लक्ष्य 2 साल 6 महीने में सेवा क्षेत्र और व्यवसायों को शामिल करने के माध्यम से 7 लाख छोटे व्यवसायों की स्थापना करना है। छोटे उद्योग (SSI) का उद्देश्य स्थानीय संसाधनों का उपयोग करना, उत्पादन के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग करना होता है। यह कहीं न कहीं छोटे स्तर पर स्थानीय बाज़ार का नुकसान भी करता है।

पीएम रोज़गार योजना 2021 का उद्देश्य

प्रधानमंत्री रोज़गार योजना का मुख्य उद्देश्य देश के बेरोज़गार युवाओ को खुद का कारोबार आरम्भ करने के लिए कम ब्याज दर पर बैंको द्वारा ऋण उपलब्ध करा कर आर्थिक सहायता प्रदान करना है और देश में बढ़ रही बेरोज़गारी को कम करना है इस योजना के ज़रिये देश के शिक्षित बेरोजगार युवाओ को उन्नति की ओर ले जाना है | प्रधानमंत्री रोज़गार योजना के ज़रिये देश के बेरोज़गार युवाओ को आत्मनिर्भर बनाना है | Pradhan Mantri Rojgar Yojana 2021 के अंतर्गत बेरोज़गार युवाओ तथा युवतियों को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करना है |


प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत कितना मिल सकता है लोन?

प्रधानमंत्री रोजगार योजना 2021 के अंतर्गत अलग-अलग क्षेत्रों के लिए अलग-अलग लोन की सीमा तय की गई है। इस योजना के अंतर्गत उद्योग क्षेत्र के लिए अधिकतम दो लाख रुपए की रकम तय की गई है और कारोबार क्षेत्र के लिए अधिकतम ₹100000 की रकम तय की गई है तथा कार्यकारी पूंजी के लिए अधिकतम ₹1000000 की रकम तय की गई है।

पीएम रोजगार योजना के अंतर्गत loan ब्याज दरें

इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा अलग-अलग राशि पर अलग-अलग ब्याज दरें वसूल की जाएंगी। जिसका निर्देश रिजर्व बैंक द्वारा समय-समय पर जारी किया जायेगा | मौजूदा निर्देश के अनुसार यदि आप प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत लोन लेते हैं तो आपको ₹25000 पर 12% ब्याज देना होगा, 25000 से 100000 तक 15.5% ब्याज देना होगा और जैसे-जैसे लोन की राशि बढ़ती जाएगी वैसे वैसे ब्याज दर भी बढ़ती जाएगी।

PM Kisan Yojana पैसा कैसे चेक करें?

पीएम रोजगार योजना के तहत लगने वाले वाले उद्योग

  1. खनिज आधारित उद्योग

  2. वनाधारित उद्योग

  3. कृषि आधारित और खाद्य उद्योग

  4. रसायन आधारित उद्योग

  5. इंजीनियरिग और गैर पराम्परागत ऊर्जा

  6. वस्त्र उद्योग। (खादी को छोड़कर)

  7. सेवा उद्योग

प्रधान मंत्री रोजगार योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री रोजगार योजना (PMRY) के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज आवश्यक हैं:

  • ड्राइविंग लाइसेंस

  • EDP ट्रेनिंग सर्टिफिकेट

  • प्रस्तावित प्रोजेक्ट प्रोफाइल की एक कॉपी

  • अनुभव, योग्यता, तथा अन्य सर्टिफिकेट

  • जन्मतिथी का प्रमाण (SSC सर्टिफिकेट या स्कूल TC )

  • 3 साल के आवास का प्रमाण, राशन कार्ड या अन्य

  • MRO (Mandal Revenue Officer) के द्वारा जारी इनकम सर्टिफिकेट

  • जाति सर्टिफिकेट (अगर आरक्षण का लाभ लेना चाहते हैं तो)

प्रधान मंत्री रोजगार योजना लागू करने की प्रक्रिया

उद्योग निदेशालय और जिला उद्योग केंद्र प्रमुख निकाय हैं जो बैंकों के साथ इस योजना लागू करने के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। योजना को लागू करते समय आर्थिक गतिविधियों की पहचान, उम्मीदवारों को चुनना और आवश्यक बुनियादी ढांचे की पहचान और बैंकों के साथ संपर्क आदि कार्य शामिल होते हैं।

कार्यवाहक कमेटी के आवश्यक कार्य

  • उम्मीदवारों का चयन और प्रेरणा देना

  • सहायक गतिविधियों को चुनना

  • व्यवसाय, सेवा और गतिविधियों की पहचान करना और कार्य योजना तैयार करना

  • लोन के लिए सिफारिश करना

  • संबंधित अधिकारियों से आवश्यक अनुमति लेना

औद्योगिक क्षेत्र के लिए PMRY की ओर से प्रति व्यक्ति ट्रेनिंग का खर्च 1,000 रु. (स्टाइपेंड के साथ) होता है, वहीं व्यापार और क्षेत्रों के लिए 500 रु ( स्टाइपेंड के साथ )। अन्य खर्च करना या खर्चों को बढ़ाने की अनुमति है और उसका रिकॉर्ड आगे भेज दिया जाता है। इसलिए, यह भारत की केंद्र सरकार द्वारा शिक्षित युवाओं और महिलाओं के बीच बेरोजगारी को कम करने की एक बड़ी पहल है और उन्हें उनकी बुनियादी या घरेलू ज़रूरतों और आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है।

PMRY योजना में बदलाव

  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और महिलाओं के लिए आयु सीमा 35 वर्ष से 10 वर्ष अधिक की गई है।

  • योजना के तहत शैक्षिक योग्यता 10 वीं कक्षा से 8 वीं कक्षा तक घटा दी गई है।

  • प्रति प्रोजेक्टलागत की अधिकतम सीमा भी 1 लाख रु. से 2 लाख रु. तक बढ़ा दी गई है।

  • योजना कृषि और संबद्ध गतिविधियों को कवर करेगी और प्रत्यक्ष कृषि कार्यों को शामिल करेगी, जैसे खाद और इसकी खरीद, फसल उगाना, आदि।

  • प्रति समूह को अधिकतम 5 लाख रुपये तकमिल सकते हैं।

  • भारत के सात पूर्वोत्तर राज्यों में आयु सीमा 40 वर्ष तक बढ़ाई गई।

PMRY के लिए कैसे आवेदन करें

स्टेप 1: PMRY की वेबसाइट पर जाएं।

स्टेप 2: आवेदन फॉर्म डाउनलोड करें व उसमें सही जानकारी भरें।

स्टेप 3: फॉर्म को उस बैंक में सबमिट करें जो PMRY के तहत आता है, जिसके बाद संबंधित बैंक आपसे सम्पर्क करेंगा।

प्रधान मंत्री रोजगार योजना के लिए योजना की विशेषताएं

  • PMRY केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजना है।

  • अपने व्यवसाय की स्थापना सुनिश्चित करने के लिए 15-20 दिनों के लिए लाभार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाता है।

  • इस योजना का प्रमुख निकाय लघु उद्योग, ग्रामीण और कृषि मंत्रालय, उद्योग के तहत विकास आयुक्त है

  • आयुक्त/ निदेशक उद्योग देश के चार महानगरों को छोड़कर राज्य स्तर पर इस योजना को लागू करते हैं।

  • हर तिमाही, राज्य स्तरीय PMRY समिति,योजना की प्रगति की जांच करती है।

  • इस योजना की कार्यान्वयन एजेंसियां देश के महानगरीय शहर हैं।

  • छोटे चाय बागानों, मछली पालन, मुर्गी पालन, सूअर पालन और बागवानी के क्षेत्रों का विस्तार करना।

  • लाभार्थी के व्यवसाय के आरंभ के लिए आसान समान मासिक किस्तें (EMI)

उत्तर पूर्वी क्षेत्र के लिए राहत मानदंड और उपाय

  • 15% की दर से सब्सिडी अधिकतम 15,000रु.।

  • 2 लाखरुपये तक की लागत वाले प्रोजेक्ट के लिए सहायता।

  • परियोजना की लागत 5% से 5% तक भिन्न हो सकती है।

प्रधान मंत्री रोजगार योजना से संबंधित सवाल

प्रश्न. PMRY के लिए नॉमिनेशन के लिए कितनी आयु होनी चाहिए?

उत्तर: आवेदक की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम 35 वर्ष होनी चाहिए। अगर आवेदक उत्तर-पूर्वी राज्यों से है तो अधिकतम आयु 40 वर्ष है और SC / ST वर्ग के लिए आयु लिमिट 45 वर्ष है।

प्रश्न. PMRY के तहत नॉमिनेशन के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता क्या है?

उत्तर: आवेदक को 8वीं कक्षा में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।

प्रश्न. क्या किसी सिक्योरिटी/कोलेटरल जमा करने की कोई आवश्यकता है?

उत्तर: 1 लाख रु. तक के प्रोजेक्ट के लिए सिक्योरिटी/गारंटी की आवश्यकता नहीं है।

प्रश्न. PMRY के तहत दी जाने वाली सब्सिडी कितनी है?

उत्तर: PMRY के तहत दी जाने वाली सब्सिडी प्रोजेक्ट लागत का 15% है, जो अधिकतम 7500 रु. है।

प्रश्न. PMRY के लिए नॉमिनेशन से पहले क्या कोई आय शर्त है?

उत्तर: PMRY के लिए नॉमिनेशन के लिए वार्षिक पारिवारिक आय 40,000 रु. से अधिक नहीं होगी।

प्रश्न. PMRY के तहत भुगतान शेड्यूल क्या है?

उत्तर: प्रारंभिक मोरेटोरियम अवधि के बाद आवेदक द्वारा अपनाया जाने वाला भुगतान शेड्यूल 3 से 7 वर्ष के बीच होना चाहिए।

प्रश्न. उधारकर्ताओं को ट्रेनिंग कब तक प्रदान की जाती है?

उत्तर: ट्रेनिंग 15-20 दिनों के लिए प्रदान किया जाता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि उनके व्यवसाय व्यवस्थित हो जाएं और शुरू हो जाएं।

प्रश्न. आवेदन करने से पहले स्थायी रूप से निवास करने के लिए अधिकतम समय अवधि क्या है?

उत्तर: आपको PMRY के लिए योग्य होने के लिए उसी स्थान पर कम से कम 3 साल तक रहना होगा।