top of page

Svamitva Yojana:क्या है स्वामित्व योजना और इसके लाभ

क्या है स्वामित्व योजना?

Svamitva Yojana पंचायती राज मंत्रालय के अंतर्गत लागू की गई है. इस योजना का पूरा नाम (Full Form) है- सर्वे ऑफ़ विलेजिस एंड मैपिंग विद इम्पोवरिश्ड टेक्नोलॉजी इन विलेज एरिया.(Survey of Villages Abadi and Mapping with Improvised Technology in Village Areas)

SVAMITVA, a Central Sector Scheme of Ministry of Panchayati Raj was nation-wide launched by the Hon'ble Prime Minister on National Panchayati Raj Day, 24th April 2021

  • स्वामित्व का मतलब गाँवों का सर्वेक्षण और ग्रामीण क्षेत्रों में तात्कालिक प्रौद्योगिकी के साथ मानचित्रण है।

  • यह एक केंद्र सरकार की योजना है जिसे 24 अप्रैल, 2021 को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय स्तर पर लॉन्च किया गया था।

स्वामित्व योजना का उद्देश्य क्या है?

Svamitva Yojana का उद्देश्य है कि ग्रामीण इलाक़ों में लोगों की संपत्ति के मालिकाना हक का एक रिकॉर्ड बनाया जाए. लोगों को उनके घर और ज़मीन का प्रपॉर्टी कार्ड दिया जाए. यह एक तरह से उनके मालिकाना हक़ का दस्तावेज proof है

  • इसके तहत गांव के हर घर और ज़मीन का रिकॉर्ड रखा जाएगा. ये कार्ड राज्‍य सरकारें बनाएंगी.

  • लोग इसका इस्‍तेमाल बैंकों से कर्ज लेने के अलावा अन्‍य कामों में भी कर सकते हैं.

  • योजना के पायलट फेज़ में छह राज्यों के 763 गांवों के लगभग सवा लाख से अधिक लोगों को ये कार्ड वितरित किए जाएंगे.

इन राज्यों में हरियाणा, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड शामिल हैं. जिनके सर्वे का काम पूरा हो चुका है. स्वामित्व योजना का क्रियान्वयन 4 वर्षों में चरणबद्ध तरीक़े से किया जाएगा. इसमें 2025 तक देश के 6.62 लाख गांवों को कवर किया जाना है.


  • ग्रामीण भारत के लिये एक एकीकृत संपत्ति सत्यापन समाधान प्रदान करना

  • ग्रामीण क्षेत्रों में घर के मालिकोंं को 'अधिकारों का रिकॉर्ड' प्रदान करना और संपत्ति कार्ड जारी करना।

  • ग्रामीण क्षेत्रों का सीमांकन ड्रोन सर्वेक्षण प्रौद्योगिकी का उपयोग करके किया जाएगा।


पीएम स्वामित्व योजना की विशेषताएं

  • ग्रामीण आबादी वाले क्षेत्रों का सीमांकन CORS (सतत् संचालन संदर्भ स्टेशन) नेटवर्क का उपयोग करके किया जाएगा जो 5 सेमी. तक की मानचित्रण सटीकता प्रदान करता है।

    • यह ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले और घर का स्वामित्त्व रखने वाले घर के मालिकों को 'अधिकारों का रिकॉर्ड' प्रदान करेगा।

  • यह वर्ष 2021-2025 के दौरान पूरे देश के लगभग 6.62 लाख गाँवों को कवर करेगा।


स्वामित्व, पंचायती राज मंत्रालय की एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना, राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस, 24 अप्रैल 2021 को माननीय प्रधान मंत्री द्वारा योजना के पायलट चरण के सफल समापन के बाद राष्ट्रव्यापी शुरू की गई थी



FAQ


Svamita Scheme की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आप अपना घरौनी आसानी से देख पाएंगे

भूमि का स्वामित्व क्या होता है?



Kommentare


bottom of page