top of page

उत्तर प्रदेश प्रशिक्षु योजना के अंतर्गत युवाओ को मिलेगा प्रशिक्षण और मासिक भत्ता

अपडेट करने की तारीख: 23 अग॰ 2023

उत्तर प्रदेश में 7,50,000 युवाओं को ट्रेनिंग देकर रोजगार/स्वरोजगार से जोड़ा जायेगा उत्तर प्रदेश के हर जिले से चुने जायेंगे 10-10 हजार युवा जो स्नातक व कक्षा 12 उत्तीर्ण होंगे! ट्रेनिग के दौरान युवाओं को प्रत्येक माह स्टाइपेंड (प्रशिक्षण भत्ता )भी दिया जायेगा


UP CM Apprenticeship Promotion Scheme - Apply Online

यूपी इंटर्नशिप स्कीम राष्ट्रीय शिक्षुता प्रशिक्षण योजना,UP Berojgari Bhatta:उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता योजना



युवाओं में आर्थिक एवं कौशल की कमी को दूर करने के लिए देश की सरकार हमेशा प्रयास करती रहती हैं. इसी श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए उत्तरप्रदेश सरकार ने एक पहल की है, जिसके मुताबिक 12 वीं एवं ग्रेजुएशन पास करने वाले युवाओं की आर्थिक और कौशल दोनों ही रूपों में प्रदान की जा रही है. और साथ ही उन्हें नौकरी के अवसर भी दिए जा रहे हैं. इस योजना का हालही में कुछ दिन पहले पहले चरण की शुरुआत करने का ऐलान कर दिया गया है, जिसमें राज्य के लगभग 7.5 लाख युवा लाभ उठा पाएंगे. आइये इस योजना की पूरी जानकारी को विस्तार से समझते हैं.

उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री शिशिक्षु प्रोत्साहन योजना की विशेषताएं

  1. Uttar Pradesh Apprentice Scheme उत्तर प्रदेश की शिक्षा विभाग द्वारा शुरू की गई एक प्रशिक्षु योजना है।

  2. यह योजना उत्तर प्रदेश में विभिन्न उद्योगों, कॉमन सेक्टर के कम्पनियों और प्रावधानों में प्रशिक्षण के लिए अधिकारी प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण प्रदान करने का उद्देश्य है।

  3. प्रशिक्षुओं को विभिन्न प्रकार की व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान की जाती है, जो उन्हें कम्पनी में काम करने के लिए तैयार करती है

  4. । इस योजना के माध्यम से, प्रशिक्षुओं को व्यवसायिक ज्ञान, कौशलों और अनुभव प्रदान किया जाता है,


  • योजना का उद्देश्य :- इस योजना को शुरू कर उत्तरप्रदेश राज्य सरकार यह चाहती है कि उत्तरप्रदेश के युवाओं को बेरोजगारी से ऊपर उठने में मदद मिले, और वे हमेशा रोजगार प्राप्त करने की ओर बढ़ते रहें.

  • योजना में की जाने वाली मदद :- इस योजना के माध्यम से लाभार्थी छात्र – छात्राओं को मुफ्त प्रशिक्षण दिया जायेगा. और साथ ही उन्हें सरकार की ओर से नौकरी के अवसर देने में भी मदद की जाएगी.

  • पशिक्षण के दौरान दी जाने वाली सुविधा :- इस योजना में लाभार्थियों को मुफ्त में ट्रेनिंग तो दी जाएगी ही, साथ में उन्हें ट्रेनिंग के दौरान कक्षा 12 पास अभ्यर्थियों की 8 हजार और स्नातक पास अभ्यर्थियों को करीब 9 हजार रूपये प्रतिमाह वित्तीय सहायता के रूप में भी प्रदान किये जायेंगे.


  • सरकार का योगदान :- इस योजना में लाभार्थियों को जो वित्तीय सहायता दी जानी है, उसमें केंद्र एवं राज्य दोनों ही सरकार का योगदान होगा. लाभार्थी को मिलने वाले पैसे में केंद्र सरकार का योगदान एवं राज्य सरकार का योगदान होगा.

  • इंटर्नशिप की अवधि :- इस योजना में लाभार्थी 6 महीने या 1 साल तक की मुफ्त में इंटर्नशिप प्राप्त कर सकते हैं.

  • लड़कियों के लिए प्रावधान :- इस योजना में लड़कियों का राज्य की सुरक्षा में योगदान हो इसके लिए विशेष रूप से प्रावधान है, जिसमें उन्हें राज्य सरकार की ओर से 20 % पुलिस विभाग में विशेष कोटा प्रदान किया जा रहा है.

  • कुल लाभार्थी :- इस योजना में कुल 7.5 लाख लाभार्थी लाभ ले सकते हैं, जिसमें से पत्येक जिले से 10 हजार लाभार्थियों को लाभ मिलेगा और इसके लिए राज्य के व्यवसायिक शिक्षा बोर्ड की अहम् भूमिका है

  • अन्य लाभ :- इस योजना के तहत राज्य के प्रत्येक तहसीलों में एक आईटीआई एवं कौशल विकास केंद्र खोले जायेंगे, इससे लाभार्थियों को एक नया मंच प्राप्त होगा.

उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना में आवश्यक दस्तावेज (Required Documents)

इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों को किन – किन दस्तावेजों की कॉपी को अपने पास रखना होगा, आप इसमें शामिल होने के लिए निम्न दस्तावेजों को अपने साथ रख सकते हैं –


  • आवासीय या मूल निवासी प्रमाण पत्र की कॉपी

  • आधार कार्ड की कॉपी

  • ग्रेजुएशन की मार्कशीट की कॉपी

  • कक्षा 10-12 की मार्कसीट की कॉपी

  • बैंक पासबुक की कॉपी

  • आईटीआई पास करने वाले अप्रेंटिसशिप के प्रमाण पत्र की कॉपी

  • इंजीनियर छात्राओं का प्रमाण स्वरुप डिग्री की कॉपी आदि.

मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

मित्रों, यूपी सीएम अप्रेंटिसशिप पोर्टल पर आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के बाद तो हम आपको उसकी जानकारी देंगे ही, लगे हाथों हम आपको राष्ट्रीय प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना (national apprenticeship promotion scheme) यानी NAPS के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के बारे में बताते हैं, जो कि इस प्रकार से है-



  • आवेदक को सबसे पहले आधिकारिक अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण पोर्टल https://apprenticeshipindia.org/ पर जाना होगा।

  • यहां होम पेज पर उसे Register section में Candidate के लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने NAPS योजना का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फार्म खुल जाएगा।

  • यहां इच्छुक युवा को पूछी गई सारी जानकारी सही सही भरनी होगी।

  • इसके बाद भरी जानकारी को चेक करके Submit के option पर क्लिक कर दें।

  • इसके बाद आवेदक होमपेज के ऊपरी दाएं कोने पर मौजूद Login लिंक पर क्लिक करके login कर सकेंगे या सीधे https://apprenticeshipindia.org/login पर क्लिक कर login कर सकेंगे।

उत्तर प्रदेश में दो करोड़ शिक्षित युवा बेरोजगार हैं –

मित्रों, एक अनुमान के अनुसार उत्तर प्रदेश में करीब दो करोड़ शिक्षित बेरोजगार हैं। इन बेरोजगारों ने युवा शक्ति संगठन गठित किया हुआ है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन 5 जून को इन बेरोजगार युवाओं ने बेरोजगार दिवस के रूप में मनाते हुए “डिग्री लो रोजगार दो” की मांग रखी। उन्होंने इसे सोशल मीडिया पर ट्रेंड भी कराया।


इस अभियान में प्रदेश के सेवायोजन पोर्टल में पंजीकृत बेरोजगार युवा, प्रतियोगी छात्र, लंबित भर्तियों के अभ्यर्थी भी शामिल हुए। संगठन का दावा था कि यूपी सरकार ने दिसंबर, 2020 में सभी सरकारी विभागों से खाली पदों का ब्योरा मांगा था। इस आधार पर शिक्षा, स्वास्थ्य, पुलिस, राजस्व, ऊर्जा जैसे अहम विभागों में 5 लाख पद खाली हैं। इनमें 3.25 लाख पद राज्य कर्मचारियों के हैं।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना से युवाओं के सपने पूरे होंगे –

दोस्तों, उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना से बेहतर नौकरी की बाट जोह रहे युवाओं के सपने पूरे होंगे, ऐसा माना जा सकता है। राज्य में ढेरों ऐसे युवा हैं, जिन्होंने पढ़ाई से डिग्री तो हासिल की, लेकिन उद्योगों से जुड़ा कोई स्किल या अनुभव न होने के कारण उन्हें अच्छा काम मिलने में परेशानी हो रही है। ऐसे में उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना उन्हें मनपसंद नौकरी हासिल करने लायक बनाकर उनके सपनों को पूरा करने में सहायक बनेगी।


コメント


bottom of page