दिवाली क्यो मनाई जाती है ? (Diwali kyon manai jaati hai)

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान राम जब लंका विजय कर पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण के साथ वनवास पूरा कर अयोध्या वापस आए थे। तब अयोध्या का हर घर और चौराहा दीपों की रोशनी से जगमग था। हर अयोध्यावासी ने भगवान राम के वनवास से नगर आगमन पर अपने घर को दीपों से सजाया था। तब से हर वर्ष कार्तिक मास की अमावस्या को दिवाली मनाई जाती है।

Diwali kab hai 2021| दीपावली कब है

Diwali hab hai 2021

Deepawali 2021 अमावस्या तिथि प्रारम्भ: नवंबर 04, 2021 को प्रात: 06:03 बजे से। अमावस्या तिथि समाप्त: नवंबर 05, 2021 को प्रात: 02:44 बजे। दिवाली पर लक्ष्मी पूजन मुहूर्त शाम 06 बजकर 09 मिनट से रात 08 बजकर 20 मिनट तक है।

diwali kab hai 2021.webp

Diwali 2021 वर्ष कार्तिक मास की अमावस्या तिथि

2021 में दिवाली कब है? (Diwali 2021 Date)
4नवंबर, 2021(गुरुवार)

दिवाली पर लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त (Diwali 2021 Laxami Puja Subh Muhurat)
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :18:10:29 से 20:06:20 तक
अवधि :1 घंटे 55 मिनट
प्रदोष काल :17:34:09 से 20:10:27 तक
वृषभ काल :18:10:29 से 20:06:20 तक
अमावस्या तिथि प्रारम्भ – नवम्बर 04, 2021 को 06:03 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त – नवम्बर 05, 2021 को 02:44 बजे

दिवाली पर निशिता काल मुहूर्त
निशिता काल – 23:39 से 00:31, नवम्बर 05
सिंह लग्न -00:39 से 02:56, नवम्बर 05
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त स्थिर लग्न के बिना
अमावस्या तिथि प्रारम्भ – नवम्बर 04, 2021 को 06:03 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त – नवम्बर 05, 2021 को 02:44 बजे

Dipawali 2021 kab mnaya jayega? दिवाली का त्योहार 4 नवंबर को मनाया जाएगा।