Diwali 2021 Kab Hai | upcoming Festivals 

diwali 2021 वर्ष कार्तिक मास की अमावस्या तिथि

2021 में दिवाली कब है? (Diwali 2021 Date)
4नवंबर, 2021(गुरुवार)

दिवाली पर लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त (Diwali 2021 Laxami Puja Subh Muhurat)
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :18:10:29 से 20:06:20 तक
अवधि :1 घंटे 55 मिनट
प्रदोष काल :17:34:09 से 20:10:27 तक
वृषभ काल :18:10:29 से 20:06:20 तक
अमावस्या तिथि प्रारम्भ – नवम्बर 04, 2021 को 06:03 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त – नवम्बर 05, 2021 को 02:44 बजे

दिवाली पर निशिता काल मुहूर्त
निशिता काल – 23:39 से 00:31, नवम्बर 05
सिंह लग्न -00:39 से 02:56, नवम्बर 05
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त स्थिर लग्न के बिना
अमावस्या तिथि प्रारम्भ – नवम्बर 04, 2021 को 06:03 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त – नवम्बर 05, 2021 को 02:44 बजे

Dipawali 2021 kab mnaya jayega? दिवाली का त्योहार 4 नवंबर को मनाया जाएगा।

दीपावली पूजा कब है?

diwali kab hai.jpg

दिवाली क्यो मनाई जाती है ? (diwali kyon manai jaati hai)

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान राम जब लंका विजय कर पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण के साथ वनवास पूरा कर अयोध्या वापस आए थे। तब अयोध्या का हर घर और चौराहा दीपों की रोशनी से जगमग था। हर अयोध्यावासी ने भगवान राम के वनवास से नगर आगमन पर अपने घर को दीपों से सजाया था। तब से हर वर्ष कार्तिक मास की अमावस्या को दिवाली मनाई जाती है। Holi 2021 date in India calendar

Happy Holi: Best Wishes, Messages, SMS, Images, Wallpapers, Quotes, Whatsapp and Facebook Status,2021 में होली कब है 

Holi 2021 Date: 2021 में होली कब है? जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और प्रचलित पौराणिक कथा

हिंदू धर्म में होली का विशेष महत्व होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। रंगों का त्योहार होली पारंपरिक रूप से दो दिन मनाया जाता है। पहले दिन होलिका जलाई जाती है, जिसे होलिका दहन कहते हैं। दूसरे दिन लोग एक-दूसरे को रंग, अबीर-गुलाल लगाते हैं। माना जाता है कि होली के दिन लोग गले-सिकवे भुलाकर गले मिलते हैं। बीते साल यानी 2020 में होली 9 मार्च को मनाई गई थी। इस साल होली 29 मार्च 2021 (सोमवार) को है।

Holi 2021 Date: होली 2021 की तारीख

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – मार्च 28, 2021 को 03:27 बजे
पूर्णिमा तिथि समाप्त – मार्च 29, 2021 को 00:17 बजे

होलिका दहन रविवार, मार्च 28, 2021 को
होलिका दहन मुहूर्त – 18:37 से 20:56
अवधि – 02 घंटे 20 मिनट

होली का महत्व-

मान्यता है कि घर में सुख-शांति और समृद्धि के लिए होली की पूजा की जाती है। कांटेदार झाड़ियों या लकड़ियों को इकट्ठा किया जाता है फिर होली वाले दिन शुभ मुहूर्त में होलिका का दहन किया जाता है।

 

होली को लेकर प्रचलित है ये मान्यता-

मान्यता है कि इस दिन स्वयं को ही भगवान मान बैठे हरिण्यकशिपु ने भगवान की भक्ति में लीन अपने ही पुत्र प्रह्लाद को अपनी बहन होलिका के जरिये जिंदा जला देना चाहा था लेकिन भगवान ने भक्त पर अपनी कृपा की और प्रह्लाद के लिये बनाई चिता में स्वयं होलिका जलकर मर गई। इसलिये इस दिन होलिका दहन की परंपरा भी है। होलिका दहन से अगले दिन रंगों से खेला जाता है इसलिये इसे रंगवाली होली और दुलहंडी भी कहा जाता है।