top of page

Online Bhulekh Uttarakhand: भूमि रिकॉर्ड देखें और डाउनलोड करें

Bhulekh Uttarakhand एक भूमि रिकॉर्ड प्रबंधन प्रणाली है जिसका उपयोग सरकार Bhulekh,Khasra,Khatauni, Naksha, Land records को पब्लिक के लिए ऑनलाइन उपलब्ध करने का काम करती है Uttarakhand के व्यक्तियों को भूमि के स्वामित्व, कब्जे और खेती के बारे में जानकारी सहित अपने भूमि अभिलेखों को ऑनलाइन देखने और डाउनलोड करने की अनुमति देता है। वेबसाइट पर, आप अपने नाम या संबंधित भूमि के खसरा या खाता नंबर का इस्तेमाल करके Bhuabhilekh की जानकारी प्राप्त कर सकते है


Khatauni क्या है?
खतौनी ज़मीन के मालिकों या उसपर खेती करने वाले लोगों को आवंटित विशिष्ट संख्या है। खतौनी संख्या पूरे परिवार के स्वामित्व वाली खेती की भूमि को दर्शाती है।



उत्तराखंड भूलेख हाइलाइट

योजना का नाम

भूलेख उत्तराखंड

राज्य

उत्तराखंड

विभाग

डिपार्टमेंट ऑफ़ रेवेन्यू

लाभार्थी

उत्तराखंड के निवासी

मोड

ऑनलाइन/ऑफलाइन

वर्ष

2024

हेल्पलाइन नंबर

0135 -266344, 0135- 266308

ऑफिसियल वेबसाइट

http://bhulekh.uk.gov.in/Bhulekh/

उत्तराखंड में अपनी खतौनी कैसे चेक करें?

उत्तराखंड में भूलेख प्रणाली का उपयोग करके अपने भूमि रिकॉर्ड को ऑनलाइन देखने के लिए, आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:


  • उत्तराखंड सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं: https://bhulekh.uk.gov.in/

  • Public ROR (पब्लिक ROR)पर जाये और क्लिक करें।

  • भूलेख पोर्टल पर आपको उस जनपद, तहसील, ग्राम का चयन करना होगा जिसमें आपकी भूमि स्थित है।

  • फिर आप संबंधित भूमि के सर्वेक्षण संख्या(Khasra number) का उपयोग करके अपने भूमि अभिलेखों (Land records)की खोज कर सकते हैं।

  • जब आपको भूमि रिकॉर्ड मिल जाता है, तो आप अपनी भूमि से संबंधित विभिन्न दस्तावेज, जैसे खसरा (भूमि सर्वेक्षण) और जमाबंदी (भूमि स्वामित्व) रिकॉर्ड देख और डाउनलोड कर सकेंगे।


गाटा संख्या से खतौनी कैसे देखे?

  • https://bhulekh.uk.gov.in/ को ओपन करें

  • जनपद, तहसील एवं ग्राम चुनें

  • गाटा संख्या द्वारा खोजें विकल्प को चुनें

  • गाटा संख्या सेलेक्ट कीजिये

  • कॅप्टचा कोड वेरीफाई कीजिये

  • अपने जमीन की खतौनी देखें


उत्तराखंड में जमीन का क्या रेट है?
संशोधित और वर्तमान सर्किल रेट देहरादून 2022 के अनुसार, कृषि भूमि की सर्किल दरें INR 1000 और INR 4000 प्रति वर्ग मीटर के बीच हैं।

उत्तराखंड को देवभूमि क्यों बोलते हैं?
उत्तराखंड को देवभूमि इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहां अनेक देवी देवता निवास करते हैं। माना यह जाता है की यहाँ तैतीस करोड देवी देवता निवास करते है



Comments


bottom of page