खोज करे

Poultry Farm क्या है "कैसे शुरू करे?"

अपडेट किया गया: नव. 12


Poultry Farm क्या है? Poultry Farming भोजन के लिए मांस तथा अंडे देने के उद्देश्य से पालतू पक्षियों जैसे- मुर्गी, बत्तख आदि को पालने की प्रक्रिया है। Poultri Farming Business में सबसे ज्यादा मुर्गियां पाली जाती है इसलिए इसे कुक्कुट पालन या मुर्गी पालन भी कहते है।

उत्तर प्रदेश राशन कार्ड लिस्ट डाऊनलोड करे

पोल्ट्री फार्मिंग कैसे शुरू करे

पोल्ट्री फार्मिंग एक ऐसा काम है जो कम लागत में अच्छा मुनाफा देता है. मुर्गी पालन का काम पशुपालन से जुड़ा होता है. गांव-देहात में घर के पीछे छोटे स्तर पर भी मुर्गी पालन का काम किया जा सकता है और बैकयार्ड मुर्गी पालन के लिए भी सरकार मदद करती है. इस बात का ध्‍यान रखना होगा कि इसके लिए जगह हमेशा पब्लिक एरिया थोड़ा अलग होना चाहिए. इसमें ज्यादा पानी की जरुरत नहीं पड़ती बस सफाई का विशेष ध्यान देना जरूरी है.

Poultry farming Business शुरू करने के लिए कितने रुपयों की जरूरत होगी ?


पोल्ट्री बिजनेस शुरू करने के लिए कई फाइनेंशियल संस्थानों से बिज़नेस लोन आसानी से लिया जा सकता है. अगर आप छोटे पैमाने पर पोल्ट्री फार्म शुरू करना चाहते हैं तो कम से कम 50 हजार रुपए से 1.5 लाख रुपए के बीच खर्च आएगा. अगर आप बिजनेस को और बड़े स्तर पर सेटअप करना चाहते हैं तो लगभग 1.5 लाख रुपए से 3.5 लाख रुपए के बीच खर्च आएगा.

लोन और सब्सिडी कैसे प्राप्त करें ?

पोल्ट्री फार्मिंग के लिए किसी भी सरकारी बैंक से लोन ले सकते हैं.पोल्ट्री फार्मिंग कारोबार को बढ़ावा देने के लिए सरकार लोन तो देती है साथ ही लोन पर सब्सिडी भी दी जाती है. मुर्गी पालन के लिए सरकार 25 परसेंट तक सब्सिडी देती है. एससी/एसटी वर्ग के लोगों के लिए यह सब्सिडी 35 फिसदी तक है. नाबार्ड मुर्गी पालन पर सब्सिडी देता है. मुर्गी पालन के लिए कोई भी व्यक्ति लोन ले सकता है. 

agriculture.up.nic.in online registration up