UP Agriculture | Kisan Registration Online 2021

उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था का मूल आधार कृषि है तथा लगभग 65 प्रतिशत जनसंख्या कृषि पर आधारित है। प्रदेश के आर्थिक विकास में कृषि क्षेत्र का महत्वपूर्ण योगदान है। वर्ष 2014–15 के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में लगभग 165.98 लाख हैक्टेयर (68.7%) क्षेत्र में खेती की जाती है। कृषि गणना वर्ष 2010–11 के अनुसार उत्तर प्रदेश में 233.25 लाख कृषक हैं। कृषि की आधुनिक तकनीक का उपयोग कर उत्पादन तथा उत्पादकता में वृद्धि की दिशा में कृषकों की मेहनत एवं प्रयास का ही परिणाम है कि कृषि ने प्रदेश को खाद्य सुरक्षा में आत्मनिर्भर बनाते हुये “आवश्यकता से आधिक्य” की ओर पहुँचाया है।

UP Agriculture . agriculture statistics dbtagriculture.

वर्ष 2015–16 में 626.64 लाख मै0टन खाद्यान्न उत्पादन लक्ष्य के सापेक्ष 439.47 लाख मै0टन खाद्यान्न उत्पादन हुआ जिसमें खरीफ में 159.12 लाख मै0टन तथा रबी में 280.35 लाख मै0टन खाद्यान्न उत्पादन हुआ इसी प्रकार तिलहनी फसलों में 13.03 लाख मै0 टन के सापेक्ष 8.47 लाख मै0टन (शुद्ध) उत्पादन हुआ।

वित्तीय वर्ष 2016–17 में कृषि विभाग हेतु 5.1 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर को बनाये रखते हुये कुल खाद्यान्न 659.49 लाख मै0टन का उत्पादन स्तर प्राप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसके सापेक्ष 539.14 लाख मै0टन खाद्यान्न का अनुमान हैं जिसमें खरीफ के अन्तगर्त 180.25 लाख मै0टन खाद्यान्न उत्पादन प्राप्त हुआ तथा रबी में 355.90 लाख मै0टन खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान है। इसी प्रकार तिलहनी फसलों में 14.13 लाख मै0टन (शुद्ध) लक्ष्य के सापेक्ष 10.37 लाख मै० टन का अनुमान है।

वर्ष 2015–16 में कुल 52.26 लाख कु० लक्ष्य के सापेक्ष 45.53 लाख कु० का बीज वितरण किया गया। वर्ष 2016–17 में कुल 55.63 लाख कु० के सापेक्ष 51.06 लाख कु० का बीज वितरण किया गया है। जिसमें खरीफ में 10.87 लाख कु० एवं रबी में 40.53 लाख कु0 बीज वितरण किया गया।

वर्ष 2015–16 में कुल 88.67 लाख मै0टन उर्वरक वितरण लक्ष्य के सापेक्ष 108.39 लाख मै0 टन उर्वरक की उपलब्धता करते हुए 73.64 लाख मै0 टन का वितरण किया गया। वर्ष 2016–17 में कुल 89.50 लाख मै0टन लक्ष्य के सापेक्ष 103.64 लाख मै0 टन की उपलब्धता करते हुए 66.85 लाख कु0 बीज वितरण किया गया। वांछित उत्पादन प्राप्त करने एवं मृदा स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए नत्रजन के साथ-साथ फास्फोरस एवं पोटाश के उपयोग पर विशेष बल दिया गया इससे संतुलित उर्वरक प्रयोग को बढ़ावा मिला है।

Online Farmer Registration

वर्ष 2015–16 में कुल 84021.09 करोड़ रू0 फसली ऋण वितरण लक्ष्य के सापेक्ष रू0 66478.89 करोड़ का फसली ऋण वितरण किया गया। वर्ष 2016–17 में रू० 93212.60 करोड़ फसली ऋण वितरण लक्ष्य के सापेक्ष रू0 73271.74 का फसली ऋण वितरण किया गया। जिसमें खरीफ में रू० 30051.07 करोड़ रू० तथा रू० 43220.67 करोड़ का फसली ऋण वितरण किया गया है

वर्ष 2015–16 में 32 लाख किसान क्रेडिट कार्ड वितरण के लक्ष्य के सापेक्ष 34.18 लाख किसान क्रेडिट कार्ड का वितरित किया गया वर्ष 2016–17 में कुल 35 लाख किसान क्रेडिट कार्ड वितरण लक्ष्य के सापेक्ष 34.79 लाख किसान क्रेडिट कार्ड का वितरित किये गये।

गरीब किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार अलग-अलग तरह की योजनाएं लेकर आ रही हैं। किसानों को अपने पैरों पर खड़ा करने के लिए राज्य सरकार भी अपना पूरा जोर लगा रही है। 

यूपी सरकार ने राज्य के किसानों को आर्थिक सुविधा देने के लिए up agriculture नामक एक डिपार्टमेंट बनाया है। जिसके अंतर्गत उत्तर प्रदेश के नागरिकों को up agriculture registration और subsidy benefits की जानकारी प्रदान की जाएगी। 

PM Kisan Status Uttar Pradesh 2021

up agriculture योजना को उत्तर प्रदेश के सरकार द्वारा राज्य के कृषि विभाग को उन्नत करने के लिए जारी किया गया है। उत्तर प्रदेश के सभी किसान इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

 

 up agriculture योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि उत्तर प्रदेश का कोई भी किसान सरकार द्वारा जारी की गई इन योजनाओं के लाभ से वंचित नहीं रहना चाहिए। लेकिन इन योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को सबसे पहले up agriculture में registration करना होगा। 

​उत्तर प्रदेश कृषि योजनाओ के लाभ हेतु पंजीकरन करे 

upagriculture registration portal page.webp

up agriculture क्या है ? 

 

up agriculture राज्य सरकार द्वारा जारी की गई एक योजना है। इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के सभी किसानों को सरकार द्वारा जारी की जाने वाले योजनाओं से अवगत कराने के लिए जारी किया है। 

 

ताकि उत्तर प्रदेश के हर किसान को सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सके। इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए उत्तर प्रदेश के सरकार ने किसान भाइयों के लिए एक वेबसाइट भी बनाई है। जहां रजिस्ट्रेशन करके उत्तर प्रदेश के किसान सरकार द्वारा जारी किए जाने वाली योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। up agriculture की ऑफिशियल वेबसाइट http://upagriculture.com है। 

 

up agriculture में registration करने के लिए कौन-कौन से document की जरूरत होती है ? 

 

अगर आप up agriculture में registration करके उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाले सभी सरकारी योजनाओं को प्राप्त करना चाहते हैं।

 

 तो आपके पास यह सभी दस्तावेजों का होना बहुत जरूरी है। अगर आप के पास ये सभी दस्तावेज है तब आप आसानी से up agriculture में registration कर सकते हैं। up agriculture में registration के लिए जरूरी दस्तावेजों के नाम नीचे दिए गए हैं - 

 

up agriculture में registration करने के लिए आपके पास आधार कार्ड और आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर होना जरूरी है। 

 

किसान के पास अपना बैंक अकाउंट होना बहुत जरूरी है। रजिस्ट्रेशन करते समय आप अपना पासबुक साथ में लेकर जाएं। 

 

निजी जानकारी देने के लिए किसान के पास प्रूफ्स होना बेहद जरूरी है। मतलब की किसान के पास जमीन के दस्तावेज और एलपीसी रसीद होना जरूरी है। 

 

अगर आपके पास यह सभी चीजें हैं। तो आप आसानी से up agriculture में registration करके सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 

Farm Equipment Parts Repair

Kisan registration | upagripardarshi.gov.in

up agriculture में Kisan registration कैसे करें ?

 

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा घोषित की गई सभी योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने के लिए और केंद्रीय सरकार द्वारा जारी किए जाने वाली योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए up agriculture में registration करना आवश्यक है।

 

 इस योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के निवासी ही प्राप्त कर सकते हैं। आप नीचे बताए गए steps को फॉलो करके up agriculture में Kisan registration कर सकते हैं - 

 

Step 1 up agriculture में registration करने के लिए आपको सबसे पहले इसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आप चाहे तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके भी इस वेबसाइट पर जाया सकते हैं। 

 

http://upagriculture.com/Default.aspx

 

Step 2 वेबसाइट में जाने के बाद आपको यूपी एग्रीकल्चर का पूरा होमपेज दिखाई देगा। सबसे ऊपर आप को रजिस्ट्रेशन यानी पंजीकरण का एक ऑप्शन दिखाई देगा। आप पंजीकरण बटन पर क्लिक कर दीजिए। 



 

Step 3 पंजीकरण बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जिसमें आपको पंजीकरण करने के लिंक दिखाई देगा। किसान पंजीकरण फॉर्म में आपको इस तरह के तीन ऑप्शन दिखाए जाएंगे।

 

 पहला ऑप्शन कृषि विभाग की योजना हेतु , दूसरा ऑप्शन उधान विभाग की योजना हेतु और तीसरा ऑप्शन गन्ना विभाग के योजना हेतु। किसान अपने अनुसार विभाग चुन सकते हैं। 

 

Step 4 रजिस्ट्रेशन विभाग चुन लेने के बाद आपको "ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें" के लिंक पर क्लिक करना होगा। 

 

Step 5 जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे वैसे आप से पूछा जाएगा कि आप इस वेबसाइट पर नए हैं या नहीं। 

 

Step 6 अब आपके सामने यूपी एग्रीकल्चर का रजिस्ट्रेशन फॉर्म ओपन होगा। आप इस फॉर्म में अपनी पूरी जानकारी डाल दीजिए। 

 

इस फॉर्म में आपको यानी कि किसान को अपने बैंक अकाउंट की जानकारी भरनी होगी। आप अपना अकाउंट नंबर और आईएफसी कोड डाल दीजिए। 

 

किसान बैंक अकाउंट की जानकारी डालने के बाद उन्हें अपनी निजी जानकारी फॉर्म में डालनी है और उसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना है। सबमिट बटन पर क्लिक करने से पहले आप फॉर्म को एक बार ठीक से पढ़ लीजिए। 

 

फॉर्म को एक बार और वेरीफाई कर लेने के बाद आप फाइनल सबमिट बटन पर क्लिक कर दीजिए। 

 

up agriculture में registration के क्या फायदे हैं ? 

 

यूपी के किसान अगर up agriculture में registration करते हैं, तो इस योजना के तहत उन्हें कई सारे फायदे मिलेंगे। up agriculture में registration से मिलने वाले फायदे नीचे स्पष्ट किए गए हैं। 

 

यहां पंजीकरण करने से राज्य सरकार को किसानों के बारे में जानकारी हासिल कर, उनके लिए उपयुक्त योजनाएं जारी करने में मदद मिलेगी।

 

किसानों को सरकार की सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त होगा। 

 

आने वाली योजनाओं का लाभ किसानों को प्राप्त होगा। 

upagriculture.com Krishi Yantra Anudan panjikaran

डीबीटी एग्रीकल्चर,एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट बिहार पटना,एग्रीकल्चर रजिस्ट्रेशन,यूपी एग्रीकल्चर डॉट कॉम,किसान रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन फॉर्म

कृषि योजना उत्तर प्रदेश.up agriculture report.किसान पंजीकरण ऑनलाइन ,किसान अनुदान योजना .किसान पोर्टल.कृषि विभाग अधिकारी.किसान app.up .uttar pradesh agriculture data.agriculture department gov in.कृषको.रबी फसल डीजल अनुदान.किसान सलाहकार .कृषि मंत्रालय भारत सरकार.सूखाग्रस्त प्रखंडो के लिये इनपुट सब्सिडी.किसान लाभ.किसान अनुदान योजना 2020 up.भारत सरकार की कृषि योजनाएं 2021

गैलरी कृषि.कृषि यंत्रों पर 20 से 50 प्रतिशत तक अनुदान.मुख्यमंत्री अनुदान योजना ट्रैक्टर 2021 up.कृषि उपकरण सब्सिडी उत्तर प्रदेश.किसान पंजीकरण उत्तर प्रदेश.कृषि विभाग उत्तर प्रदेश 2020.फार्मर रजिस्ट्रेशन.डीबीटी एग्रीकल्चर उत्तर प्रदेश .dbt agriculture india.pfms payment status by aadhar card

UP agriculture,Kisan registration online 2021,upagriculture.com

Kirshi Yojana .up agriculture report.किसान पंजीकरण ऑनलाइन ,किसान अनुदान योजना .किसान पोर्टल.कृषि विभाग अधिकारी.किसान app.up .uttar pradesh agriculture data.agriculture department gov in.कृषको.रबी फसल डीजल अनुदान.किसान सलाहकार .कृषि मंत्रालय भारत सरकार.सूखाग्रस्त प्रखंडो के लिये इनपुट सब्सिडी.किसान लाभ.किसान अनुदान योजना 2021 up.भारत सरकार की कृषि योजनाएं 2021

 कृषि.कृषि यंत्रों पर 20 से 50 प्रतिशत तक अनुदान.मुख्यमंत्री अनुदान योजना ट्रैक्टर 2021 up.कृषि उपकरण सब्सिडी उत्तर प्रदेश.किसान पंजीकरण उत्तर प्रदेश.कृषि विभाग उत्तर प्रदेश 2021.फार्मर रजिस्ट्रेशन.डीबीटी एग्रीकल्चर उत्तर प्रदेश .dbt agriculture india.pfms payment status by aadhar card