top of page

यूपी गन्ना पर्ची कैलेंडर 2024: देखें कैसे | MyKisan

Anchor 1

यूपी गन्ना विभाग (upcane.gov.in) ने किसानों की सुविधा और पारदर्शिता के लिए www.caneup.in Ganna Kisan Portal और E-Ganna CaneUP App शुरू किया है। इसके माध्यम से यूपी के गन्ना किसान पर्ची कैलेंडर, गणना सर्वे, और भुगतान का स्टेटस अपने मोबाइल से चेक कर सकते हैं। अब, ऑनलाइन 2024 यूपी गन्ना पर्ची कैलेंडर खोजें और भुगतान की स्थिति जानें!

UP Ganna Parchi Calendar and Payment Status Check 2024

एक ही स्थान पर गन्ना किसानों के लिए: CaneUP.in और UP गन्ना ऐप से सभी जानकारी को सीधे मोबाइल पर प्राप्त करें

गन्ना किसान अपने मोबाइल पर गन्ना एसएमएस पर्ची कैलेंडर, पिछले सालों की गन्ना सप्लाई, सर्वे पेमेंट, और गन्ना की खेती से संबंधित सभी जानकारी को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। गन्ना किसानों को अब गन्ना विभाग या शुगर फैक्टरी के चक्करों में जाने की आवश्यकता नहीं है। अधिक जानकारी के लिए, आज ही enquiry.caneup.in और www.caneup.in/upcane gov in पर जाएं​
 
e Ganna Cane UP Download
उत्तर प्रदेश में गन्ना क्या रेट है?
PM Kisan Yojana:17वीं किस्त को लेकर ये है बड़ा अपडेट, जानें
गन्ने की सर्वे कैसे चेक करें?
Caneup.in पोर्टल पर सर्वे डाटा कैसे देखें?
  1. सर्वे डेटा देखने के लिए पहले केन यूपी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  2. यहां पर किसान भाई अपने आंकड़े देखने के लिए नीचे बटन पर क्लिक करें विकल्प पर क्लिक करें।
  3. नए पेज पर कैप्चा कोड भरकर view बटन पर क्लिक करें, एवं जिला, फैक्ट्री, विलेज व Grower (उत्पादक) विकल्प पर क्लिक करें।

ई-गन्ना एप (E-Ganna Cane UP App)पर देखें सर्वे का रिकॉर्ड (Ganna Survey 2024)

गन्ना विभाग ने किसानों से एप पर मोबाइल नंबर दर्ज करने की अपील की
मोबाइल नंबर दर्ज न होने पर इस बार पर्ची मिलने में आएगी समस्या
गन्ना विभाग ने किसानों द्वारा किए जाने वाले फसल की बुआई के लिए सर्वे पूरा करा लिया है। सर्वे पूरा होने के उपरांत विभाग ने उसका ब्योरा एप पर भी अपलोड करते हुए किसानों से उसे देखने को कहा है। यह भी कहा है कि यदि कहीं से भी कोई समस्या हो तो उसे विभाग से संपर्क कर ठीक करा लिया जाए। एसएमएस पर्ची की व्यवस्था को देखते हुए किसान अपने एप के माध्यम से मोबाइल नंबर भी दर्ज कर दें।

गन्ना विभाग ने हाल में पूरा कराए गए सर्वे के उपरांत उसमें आने वाली किसी प्रकार की समस्या को जानने व उसे ठीक कराने के लिए E-Ganna App के माध्यम से सर्वे का प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। किसानों से कहा गया है कि वे ई-गन्ना एप पर विभाग द्वारा जारी कोड डालकर अपने गन्ने की फसल की बुआई का क्षेत्रफल देख कमी होने की दशा में विभाग को जानकारी दें। यह भी कहा गया है कि इस बार गन्ने की आपूर्ति के लिए एसएमएस पर्ची को ही पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। ऐसे में सभी किसान एप पर दिए गए विकल्प पर अपने मोबाइल का पंजीकरण सुनिश्चित करें। इसमें लापरवाही न की जाए, क्योंकि वह किसानों को भारी पड़ जाएगी। 

bottom of page